VP अकैडेमी ने लखनऊ में मचाई धूम

Read this article in : English العربية 简体中文

अकैडेमी ने, एसिलॉर की मदद से, अपने सातवें संस्करण का आयोजन रैडिसन ब्लू, लखनऊ में किया।

अधिवेशन में लखनऊ से आए हुए ऑप्टिशियंस के अलावा आगरा, बरेली, फतेहपुर, कानपुर, प्रतापगढ़ और प्रयागराज के कुछ लोगों ने भी भाग लिया। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और प्रशिक्षण के इच्छुक ऑप्टिशियंस के उत्साह और प्रयासों को देखकर निश्चित रूप से खुशी हुई।
VP अकैडेमी ने प्रशिक्षण सत्र के लाभों के बारे में ऑप्टिशियंस को बताने और उनके पंजीकरण को सुनिश्चित करने के प्रयासों के लिए एसिलॉर के दो प्रतिनिधियों – नाज़िम ख़ान और प्रतीक टंडन को धन्यवाद दिया।
VP Academy Lucknow

प्रतीक टंडन और नाज़िम ख़ान

पहले प्रशिक्षण सत्र की शुरुआत एसिलॉर की अनंत लक्ष्मी ने ऑफ्थैल्मिक लेन्स पर ज्ञान प्रदान करने के साथ, ‘कमाना सीखिए’ इस मंत्र पर जोर दिया – उन्होंने विशेष रूप से 40 की उम्र के बाद प्रोग्रेसिव लेन्सेस का उपयोग करने के फायदों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया कि ग्राहक को समझकर उन्हें हल प्रदान करने से उनके साथ अच्छे सम्बन्ध बनेंगे और ना कि सिर्फ बेचने पर ध्यान देने से।
एसिलॉर के आय-कोड से उसमें मदद होगी और रीडिंग पैटर्न को समझने के साथ-साथ पढ़ने के दौरान गर्दन और आँखों के व्यवहार को समझने में मदद मिलेगी और इस डेटा का उपयोग प्रत्येक ग्राहकों की आवश्यकता के अनुरूप सही लेन्स बनाने के लिए किया जा सकता है।
VP Academy Lucknow

VP Academy Lucknow

कॉन्टैक्ट लेन्सेस के अगले सेशन में मोनिका चौधरी ने कॉन्टैक्ट लेन्सेस के सही इस्तेमाल के बारे में दर्शकों को बताया। बाकी विषयों के साथ साथ उन्होंने डॉमिनेंट आय की पहचान से संबंधित विषयों को कवर किया और उपयोगकर्ता के अनुभव को बढ़ाने के लिए कम से कम चार दिन की परीक्षण अवधि की आवश्यकता है ताकि उनको आराम भी ज़्यादा मिले।
उन्होंने दर्शकों में से एक सदस्य को प्रोग्रेसिव लेन्स लगाकर भी दिखाया ताकि वो ख़ुद उसके आराम को महसूस करके पानी राय दे सके।
VP Academy Lucknow

Monica Chowdhry

रैडिसन ब्लू के बेहतरीन खाने में लखनऊ की ज़ायके थे, जिसे कबाबों और नवाबों के लिए जाना जाता है। इसके बाद, रागनी मिश्रा का स्पेक्टेकल फ़्रेम्स और सनग्लासेस पर सत्र हुआ। उसने विभिन्न प्रकार और फ़्रेमों के आकार पर विस्तृत प्रस्तुति दी और किस प्रकार के चेहरे पर कौनसी फ़्रेम जचेंगी ये बताया। उन्होंने पोलारीराइज़्ड सनग्लासेस के इस्तेमाल पर ज़ोर दिया और उदाहरणों के उसकी आवश्यकता बताई और साथ ही पोलारीराइज़्ड सनग्लासेस की क्वालिटी को कैसे पहचाने ये भी बताया।
VP Academy Lucknow

Ragni Mishra

इस कार्यक्रम का समापन प्रमाणपत्र प्रस्तुतियों और फोटोग्राफी समारोह के साथ हुआ।

हमारा अगला पड़ाव है हैदराबाद। रजिस्टर होने के लिए ऑनलाइन आइए या हमें मैसेज कीजिये।

अधिक जानकारी के लिए हमें मेल करें vpacademy@fourplusmedia.com

या व्हाट्सऐप पर #VPACADEMY, आपका नाम, 
दुकान का नाम, शहर लिखकर +91 88283 38899 पर भेजें।

Read this article in : English العربية 简体中文